Delhi Rain Hindi News: दिल्ली में आठवें दिन भी यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है

Delhi Rain Hindi News: दिल्ली में आठवें दिन भी यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है

Delhi Rain Hindi News

राजधानी दिल्ली में बढ़ा यमुना का जलस्तर: राजधानी में यमुना का जलस्तर 8 दिन बाद भी गत 10 जुलाई 205.33 मीटर खतरे के निशान से ऊपर है, बीच में थोड़ी कमी के बाद जलस्तर फिर बढ़ने लगा है। सोमवार रात 10 बजे यह 206 मीटर तक पहुंच गया था। अगले तीन-चार दिनों भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है, जिससे चिंता बढ़ गई है। अगर फिर से यमुना में उफान आया तो लोगों को पहले से ज्यादा नुकसान उठाना पड़ेगा। मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 3 दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी भारी बारिश की संभावना है। इससे यमुना में पानी बढ़ने की संभावना से बिल्कुल भी इंकार नहीं किया जा सकता। चिंता की बात यह है कि यमुना में उफान का अहम कारण हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़ा जाना माना जा रहा है। जो अभी भी जारी है, नाले उफान पर हैं, जिन इलाकों में बाढ़ का पानी भरा हुआ है, वह अभी तक पूरी तरह से नहीं निकल पाया है।

 

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र यातायात दुकान घर सड़क एवं सार्वजनिक क्षेत्र: दिल्ली में भारी बारिश के कारण यातायात बाधित हो गया है, घरों, दुकानों, सड़कों पर पानी भर गया है, जिससे लोगों को आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली के कई इलाकों में अब भी बाढ़ का खतरा बना हुआ है। अन्य इलाकों में गांव में बाढ़ के कारण लोग बेघर हो गए हैं और राहत शिविर का काम भी जारी है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में बच्चों को स्कूल जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, जिसके चलते शिक्षा विभाग ने स्कूल बंद करने का सख्त निर्देश दिया है। अगर सब कुछ सामान्य रहा तो 19 तारीख को स्कूल खुले रहेंगे। यह पिछले 30 सालों का एक बड़ा रिकॉर्ड है जो इस साल 2023 में दर्ज हुआ है। बाढ़ से प्रभावित लोग काफी परेशान और मुसीबत में हैं, और दिल्ली के लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। दिल्ली को अभी और भारी बारिश का सामना करना पड़ सकता है। इसके लिए दिल्ली सरकार काफी तेजी से काम कर रही है, अब तक इसमें 26 लोगों की मौत हो चुकी है।

Delhi Rain Hindi News: दिल्ली में आठवें दिन भी यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है

आईटीओ बैराज के सभी पांच गेट अभी भी नहीं खुले हैं। सेना और नौसेना की टीमें बैराज के दोनों गेट खोलने में जुटी हैं। दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी ने कहा है कि यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे जाने के बाद ही लोग अपने घरों को लौटें. बाल निगम में बोध घाट बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। तेज बहाव के कारण घाट की एक दीवार ढह गयी है। मरघट वाला हनुमान मंदिर के दरवाजे मंगलवार को भी भक्तों के लिए बंद रहेंगे।

मनसा में बाढ़ का खतरा, सेना तैनात: घग्गर नदी के चांदपुरा बांध में शनिवार सुबह दरार 100 फीट से बढ़कर 250 फीट से ज्यादा हो गई। इससे मानसा जिले के बुढलाडा और सरदूलगढ़ इलाके में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। बाढ़ की आशंका को देखते हुए लोग गांव छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाने लगे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *